You are here:

डॉ० जयश्री शर्मा की पुस्तक ‘संपादन कहिन’ का विमोचन

डॉ० जयश्री शर्मा की पुस्तक ‘संपादन कहिन’ का विमोचन

राजस्थान लेखिका साहित्य संस्थान की अध्यक्ष व अनुकृति पत्रिका की संपादक डॉ जयश्री शर्मा की पुस्तक ‘संपादन कहिन’ का विमोचन 10 फरवरी रविवार राजस्थान लेखिका साहित्य संस्थान एवं अनुकृति प्रकाशन जयपुर के तत्वाधान में  राज०साहित्य अकादमी के पूर्व अध्यक्ष श्री वेदव्यास जी की अध्यक्षता में मुख्य अतिथि कवि और समीक्षक श्री महेंद्र नेह (कोटा) तथा विशिष्ट अतिथि श्री वरिष्ठ साहित्यकार एवं समीक्षक डॉ० नरेंद्र शर्मा कुसुम ,श्री प्रबोध गोविल, स्पंदन संस्थान की अध्यक्ष नीलिमा टिक्कू जी  के कर कमलों द्वारा रोटरी क्लब चर्च रोड शाम 2 बजे हुआ।
 संस्थान की सह सचिव रेनू शर्मा ‘शब्दमुखर’ ने बताया कि कार्यक्रम की शुरुआत में सभी अतिथियों ने सरस्वती मां को पुष्पार्पण कर दीप प्रज्वलित किया तथा अनुश्री ने मधुर आवाज में सरस्वती वंदना सुनाई। तत्पश्चात डॉ०जयश्री ने अपने उदबोधन में कहा  “सम्पादक कहिन “अनुकृति के दिसम्बर 2017 तक के सम्पादकियो का संग्रह है जो सम सामयिक घटनाओं, साहित्य,समाज और समयानुसार रेखांकित करता है । तत्पश्चात पूर्व मंत्री बाबू खाण्डा और सुधीर उपाध्याय जी ने सभी  अतिथियों का  शोल ओढा कर फूल माला पहना कर भाव भीना  स्वागत  किया। साहित्य अकादमी के पूर्व अध्यक्ष श्री वेदव्यास जी ने  जय श्री जी को सामाजिक सद्भाव की उत्प्रेरक बताते हुए कहा कि वे साहित्य में पुनर्जागरण की लेखिका है । साथ ही कहा कि राजस्थान में लेखिकाएं अब अपनी एक स्वतंत्र पहचान बना रही है।वे साहित्य में संवेदना  की नई अवधारणा स्थापित कर रही हैं। मैं दावे के साथ कहता हूं कि साहित्य में परिवर्तन कर देने की मशाल अब लेखिकाओं के हाथ में ही है। विशिष्ट अतिथि नीलिमा टिक्कू ने अपने उद्बोधन में कहा कि जयश्री जी ने जिस निर्भीकता से संपादकीय लिखें हैं वह हम सबके लिए प्रेरणादायक हैं। इनसे प्रेरणा लेकर ही हमने भी  पत्रिका निकालले का निर्णय लिया।
सभी मंचासीन अतिथियों ने डॉ०जयश्री शर्मा की पुस्तक ‘संपादन कहिन’ को आज के समय में बहुत उपयोगी बताया। इस अवसर पर राज०लेखिका साहित्य संस्थान के प्रबंध निदेशक सुधीर उपाध्याय ने अपनी कार्यकारिणी के साथ डॉ० जयश्री शर्मा को शॉल और बुके देकर उनका सम्मान किया। कार्यक्रम में अनेक साहित्यिक हस्तियां उपस्थित रही। पुस्तक पर सारगर्भित समीक्षा और परिचर्चा हुई।सभी ने पुस्तक की भूरी-भूरी प्रशंसा की। कार्यक्रम का मंच संचालन डॉ आरती भदोरिया व विजय लक्ष्मी जांगिड़ ने किया। अंत मे धर्मा यादव ने सभी का आभार व्यक्त किया।
रेनू शर्मा शब्द मुखर

Comments

comments

Credent Magazine

Posted by: Credent Magazine

Get in Touch
 

  • Head Off. : 207 Vishveshariya Nagar Ext., Triveni Nagar, Gopalpura Bypass, Jaipur, Rajasthan, INDIA
  • +91 926 9999 399
  • care@credent.in

Random Post
 

“Patriotism is our conviction that

SPELL WELL (Ryan International School, Nirman Nagar)

Knowledge enhances brain and games give

Photo Gallery
 

    Back to Top